AK-47 Rifle के बारे में रोचक तथ्य | Facts About Ak-47 In Hindi

Ak-47 Rifle (राइफल) के बारे में रोचक तथ्य

 AK-47 Rifle राइफल विश्व में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला हथियार है क्योंकि यह उपयोग करने में बेहद आसान है और इससे किसी भी मौसम में किसी भी एंगल में चलाया जा सकता है

Ak-47
Ak-47 Rifle

( AK-47 ) का पूरा नाम ऑटोमेटिक क्लाशनिकोव 47 है इनमें Automatic  का अर्थ है स्वेचालित कलाशनिकोव मिसाइल  क्लाशनिकोव के नाम पर हैं  और 47 वर्ष 1947 के लिए जब इसे बनाया गया था

एके-47 को 1947 में रूस के एक सैनिक मिसाइल कलाश्निकोव ने बनाया था जिस समय मिसाइल कलाश्निकोव ने एके-47 को बनाया था तब युद्ध में घायल होने की वजह से अस्पताल में भर्ती थे और उनकी आयु सिर्फ 21 साल थी,

यह मिसाइल क्लाशनिकोव  ने AK-47 को रूसी सैनिकों के लिए बनाया था “लेकीन” जिन्होंने आर्कटिक के ठंडे मौसम में मोटे मोटे दस्ताने पहनकर पुरानी किस्म की राइफल चलानी पड़ती थी | पर एके-47 की खूबियों के कारण जल्दी यह राइफल पूरी दुनिया में मशहूर हो गई और सभी देशों की सेनाओं इसकी उपयोग करने लगे,

AK-47 से हर साल लाख ढाई लाख लोगों की हत्या की जाती हैं इनमें से 200000 अध्याय इस्लामिक आतंकवादियों जैसे ISIS और अलकायदा द्वारा की जाती है,

Also Read – हेलमेट खरीदने से पहले जानिए इन बातों को 

AK-47 की लंबाई मात्र 3 फुट होती है| और एक पूरी तरह से गोलियों से भरी हुई होती हैं,  AK-47 का वजन मात्र 4.5 किलो होता है

AK-47 की रेंज (300 से 400) मीटर तक होती है | और एक नौसिखिया भी इसे अचूक निशाना लगा सकता है

Ak-47 से 1 मिनट में बिना रुके 600 गोलियां दागी जा सकती है |मतलब की एक सेकंड में 10 गोलियां इसका सेहरा  AK-47 की शानदार गैस चैंबर और स्प्रिंग को  जाता है,

 

एके-47 Rifle राइफल के बारे में रोचक तथ्य

मिखाइल कलाशनिकोव  को अपनी इस खोज पर बहुत गर्व था but,  वह इस बात पर दुखी भी होते थे | कि इसकी वजह से हर साल हजारों बेगुनाह इंसान आंतकवादी द्वारा मारे जाते हैं,

इस राइफल का सबसे ज्यादा गलत इस्तेमाल इस्तेमाल तालिबानी आतंकवादियों द्वारा अफगानिस्तान में हुआ था | इस समय विश्व में लगभग 10 करोड Ak-47 Rifle है यह संख्या बाकी  किसी अन्य हथियार से कही ज्यादा नहीं है यह संख्या बाकी किसी अन्य बड़े हथियारों से कहीं ज्यादा है,

Also Read – गीज़ा पिरामिड के बारे में रोचक तथ्य 

“लगभग सभी देशों में किसी आम नागरिक का अपने पास एक AK-47 रखना गैरकानूनी है भारत में यह कानून कितना सख्त है इस बात पर अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं | कि संजय दत्त को भी एक AK-47 रखने की वजह से 5 साल की भुगतान जेल करनी पड़ी थी,

Ak-47 की भेदन सकती इतनी ज्यादा है कि कुछ दीवारों यहां तक की कार के धातु के दरवाजे को भी भेज सकते हैं और उसके पीछे बैठे इंसान को मार सकती है,

केवल रूसी दुनिया को एके-47 सप्लाई नहीं करता बल्कि अन्य 30 देशों को भी इसे बनाने पर लाइसेंस पर्याप्त है,

जैसे भारत-चीन इजराइल मिश्र नाइजीरिया आदि इसमें से तीन सबसे ज्यादा एके-47 बनाता है,

Ak-47 Rifle मात्र 8 पुर्जो से बनी होती है जिनमें कोई भी 1 मिनट में आसानी से अलग करके दोबारा जोड़ सकता है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *