NIFTY AND SENSEX क्या हैं इसकी गणना कैसे कि जाती हैं

NIFTY And SENSEX क्या हैं – Difference Between Sensex And Nifty

आज हम इसी के बारे में बात करेंगे कि NIFTY AND SENSEX क्या हैं और ये कैसे कैलकुलेशन किया जाता हैं

कितना यह महत्वपूर्ण हैं इसकी गणना कैसे कि जाती हैं

NIFTY का पूरा नाम हैं – The National Stock Exchange Index Fifty

SENSEX का पूरा नाम हैं – The Bombay Stock Exchange Sensitive Index

पहले हम NIFTY के बारे में Detail में बात करते हैं

NIFTY क्या हैं

निफ़्टी हमारे इंडियन Stock मार्केट NSE का महत्वपूर्ण बेचमार्क Index हैं

जो नेशनल Stock Exchange NSE में Listed शेयर के भाव में होने वाली तेजी और मंदी को बताता हैं

OFFICIAL WEBSITE LINK NIFTY50

NIFTY भारत का सबसे Popular और सबसे ज्यादातर Volume में ट्रेड करने वाला Stock Index हैं

जिसकी स्थापना 1993 में हुई थी

NIFTY से हमें क्या जानकरी मिलती हैं?

Nifty से हमें ये पता चलता हैं कि जिस Company के शेयर NSE  ( NATIONAL STOCK EXCHANGE ) में listed हैं

वो जो कंपनी किसी तरह काम कर रही हैं अगर Company अच्छा काम कर रही हैं लाभ कमा रही हैं

तो उसका असर Company के शेयर के भाव में दीखता हैं शेयर के भाव बढ़ जाते हैं

अब शेयर के भाव बढ़ने से NIFTY में तेजी आ जाती हैं

इसी प्रकार Listed Company को ज़ब लाभ कम हो रहा हो तो उसका असर उसके शेयर के भाव पे पड़ेगा

शेयर के भाव कम हो जाते हैं और ज़ब शेयर के भाव कम होंगे तो NSE index यानि NIFTY में कमी आजाती हैं

NIFTY का ऊपर जाना और निचे जाना

Nifty का ऊपर जाना यानि तेजी इसका मतलब हैं कि कंपनीज अच्छा काम कर रही हैं उन्हें लाभ हो रहा हैं

इसका मतलब हैं कि Company’s को कम लाभ हो रहा हैं

इसी के साथ साथ हमें देश कि अर्थवयवस्था के बारे में भी मालूम चलता हैं

 

Also Read – सुबह खाली पेट गुनगुना पानी पीने से बेहतरीन फायदे

Also Read – शेयर मार्केट के फायदे 

NIFTY के फायदे

निफ़्टी के मुख्य फायदे इस तरह हैं

NSE के परफॉरमेंस के बारे में एक नजर में पता चलना

बाजार में मंदी और तेजी कि सूचना आसानी से मिल पति हैं

देश कि अर्थवयवस्था का पता चल जाता हैं

 

अब बात करते हैं कि

SENSEX क्या हैं

Sensex हमारे  Indian Stock Market का बेचमार्क Index हैं

जो Bombay Stock Exchange BSE में लिस्टेड  शेयर्स के भाव में होने वाली तेजी और मंदी को बताता हैं

Sensex भारत का सबसे पुराना स्टॉक इंडेक्स हैं जिसकी स्थापना 1986 में हुई थी

Stoco Market Index सबसे महत्वपूर्ण काम ये होता हैं कि वो स्टॉक market  में Listed सभी शेयर्स के भाव को Capture करता हैं

एक औसत वेल्यू देता हैं जिससे हमें आसानी से शेयर में होने वाली तेजी और मंदी कि सुचना मिल सके

 

SENSEX से हमें क्या जानकारी मिलती हैं

Sensex से हमें ये पता चलता हैं कि जिस कंपनी के शेयर्स BSE में listed हैं

वो Company किसी तरह से काम कर रही हैं Company अच्छा काम कर रही हैं

तो उसका असर उसके शेयर में दिखेगा उनके शेयर कि price यानि भाव बढ़ेगा

अगर कंपनी को लाभ नहीं हो रहा हैं और तो शेयर के भाव कि कम होंगे

Nifty And Sensex

Sensex का ऊपर और निचे जाना

Sensex का ऊपर जाना और निचे जाना इसका मतलब  भी यही हैं

अगर Company’s अच्छा कमा रही हैं तो ऊपर जायेगा और शेयर के भाव बढ़गे और अगर

कंपनी कम कमा रही हैं तो sensex नीचे जायेगा शेयर के भाव कम होंगे

अब ये सवाल आता हैं कि ये कमिटी किसी आधार पर 30 कम्पनी का चुनाव करती हैं

Index कमिटी Sensex में शामिल करने के लिए 30 Companys का चुनाव करते हैं

NIFTY And Sensex

जो प्रमुख बातों का ध्यान रखती हैं वो ये हैं कि

शेयर 1 या उससे ज्यादा समय तक BSE में लिस्टेड हो

पिछले एक साल में जितने दिन भी स्टॉक मार्केट open होता हैं

उन सभी दिनों में सभी कंपनी का शेयर खरीदा और बेचा जाना चाहिए

डेली औसत ट्रेड कि संख्या वेल्यू के हिसाब से ये कम्पनीस टॉप 150 Company me होनी चाईये

तो दोस्तों अगर पोस्ट aapko अच्छा लगा हो शेयर जरूर करें

मेने आपको बताया कि Nifty और Sensex क्या हैं Different Between Sensex And Nifty Hindi

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *